17 जुलाई 2012

संख्या का महत्व

हमारे जीवन और इस दृश्यमान प्रकृति में संख्याओं का बहुत महत्व है . संख्या के इस चक्कर से कोई भी अछूता नहीं . सृष्टि के प्रारंभ से आज तक हम जो कुछ भी सहेज पाए हैं उसमें सख्या की भूमिका को किसी भी सूरत में नजरअंदाज नहीं किया जा सकता . दूसरे शब्दों में यह भी कहा जा सकता है कि कई बार किसी चीज की महता का निर्धारण करने में संख्या बहुत महती भूमिका निभाती है . इतिहास के दायरे में जितनी भी चीजें आतीं हैं वह संख्या के बगैर अधूरी हैं . यह भी कह सकते हैं कि इतिहास को जीवंत बनाने में संख्या का बहुत महत्व है . हम देश, काल और समय की गणना संख्या के माध्यम से करते हैं . संख्या को गिनाने के लिए सामान्य तौर पर हमारे पास सिर्फ दस अंक हैं . शून्य से लेकर नौ तक, लेकिन जितनी भी गणना है वह इन दस अंकों में ही समाई है  . जिस तरह से संगीत सात सुरों (सा, रे, गा, , , नि, स) में समाया है, उसी तरह सृष्टि की सारी गणना इन दस अंकों में समाई है . गणित में हम गणना के लिए कुछ और चिन्हों का प्रयोग भी करते हैं , लेकिन सामान्य तौर पर यही दस अंक पूरी सृष्टि में गणना के लिए मानक के तौर पर प्रयोग किये जाते हैं . हमारे यहाँ पर प्रचलन में जो अंक हैं उनका महत्व सर्वश्रेष्ठ है . सबसे पहली बात तो यह कि यह औच्चारणिक दृष्टि से सबसे शुद्ध हैं . हम इनका जैसा उच्चारण करते हैं वैसे ही इनकी ध्वनि भी निकलती है . सिर्फ ध्वनि ही नहीं हमारी स्वरतंत्रियों में जो कम्पन होता है वह भी इन अंकों के उच्चारण के आधार पर होता है . इन सबकी  महता ज्योतिष की गणना करने वाले और भाषा विज्ञान को समझने वाले अधिक बारीकी से जानते हैं .

हमारे यहाँ का जितना भी ज्योतिष है वह इन्हीं संख्याओं के आधार पर आधारित है , और यह बहुत आश्चर्यजनक है कि इन अंकों के माध्यम से हम नवग्रहों और नक्षत्रों की बहुत सटीक गणना करने में सक्षम हुए हैं . हमनें धरती से सूर्य के बीच की दूरी को इन अंकों के माध्यम से जाना , सूर्य की एक किरण को धरती पर पहुँचने के में लगने वाले वक़्त को भी हमने इन्हीं अंकों के माध्यम से जाना . हमने चंद्रमां की दूरी को भी इन अंकों के माध्यम से जाना . साँसों के चलने की प्रक्रिया को भी यह संख्याएं ही इंगित करती हैं , और इस शरीर के सफ़र को भी संख्या के माध्यम से इंगित किया जाता है . संख्या के आधार पर ही हम समय का अंकन करते हैं और यह संख्या ही है जिसके आधार पर हम जड़ और चेतन सत्ता की पहचान करते हैं . आखिर जब संख्या ही नहीं है तो कुछ भी नहीं . जब मैंने इस संख्या की महता के विषय में गहराई से सोचा तो मुझे कोई भी ऐसा पदार्थ इस सृष्टि में नजर नहीं आया जिसका संख्या से कोई लेना देना न हो या जिस पर कोई संख्या लागू न होती हो . यह पूरी सृष्टि संख्याओं के माध्यम से अभिव्यक्त होती है और जब यह विलीन होती है तो तब भी संख्या इससे जुदा नहीं होती . यानि संख्या की महता हर परिस्थति में है .
 
कई बार संख्याएँ कुछ रोचक सा माहौल पैदा करतीं हैं . जैसे किसी के मोबाईल का नम्बर , गाडी का नम्बर या फिर कहीं कुछ और . पिछले दिनों हमने देखा कि सचिन तेंदुलकर के सौवें 100 शतक के लिए लोग किसी तरह से बेताब थे . एक धावक की जीत में मिनटों और सेकंडों की संख्या कितनी मायने रखती है . इस बात से आप भलीभांति अवगत हैं और एक नेता की जीत के लिए एक वोट कितने मायने रखता है . यह सब संख्याओं का खेल है . जरा गहराई से देखें तो कितनी महत्वपूर्ण है संख्या और कितना रोचक है संख्याओं का संसार . हम जितना डूबेंगे उतना ही पायेंगे संख्याओं के बारे में और जितना खोजेंगे उतना ही कम होगा संख्या को जानना . पिछले दिनों मेरे सामने एक रोचक सी संख्या आई ( 12345 ) . जिसे मैंने आदरणीय ललित शर्मा जी के ब्लॉग ललित डॉट कॉम पर देखा . इनके ब्लॉग पर टिप्पणियों की संख्या 12345 हुई तो एक अद्भुत संख्या बन गयी . एक तरह से हम इसे एक , दो , तीन , चार , पांच ही कहते तो यह संख्या का खंडित रूप होता और इसके कोई मायने नहीं होते  और अगर हम दूसरे शब्दों में कहते बारह हजार तीन सो पैंतालीस तो एक बहुत बड़ी संख्या हमारे पास होती . देखिये कितना अद्भुत है संख्याओं का संसार . अब इसी बात को आगे बढ़ाते हैं . इन बारह हजार तीन सो पैंतालीस टिप्पणियों में ललित शर्मा जी के ब्लॉग और उनके लेखन की महता छुपी हुई है . 601 पोस्टों पर बारह हजार तीन सो पैंतालीस टिप्पणियाँ इंगित करती हैं कि इनके पाठक वर्ग का दायरा कितना बड़ा है और संभवतः इस संख्या ने यह भी बता दिया कि कोई एक विषय ही लेखन का विषय नहीं रहा होगा . विषय विविधता , लेखन की निरंतरता , प्रमाणिकता और मौलिकता आदि सभी इस संख्या के माध्यम से इंगित हुए और मेरा मन एक रोमांच से भर गया , और यह भी मेरे लिए आश्चर्यजनक रहा कि इस संख्या तक यह मेरी टिप्पणी के माध्यम से ही पहुंचे थे . यह तो एक उदहारण मात्र है . गहराई में जाकर देखें कितनी महत्वपूर्ण हैं संख्याएं यह बड़ा अद्भुत विषय है और हम संख्याओं के बगैर एक पल भी नहीं जी सकते और एक पल में ही कई तरह की महत्वपूर्ण संख्याएं हमारे जीवन को प्रभावित कर रहीं होती हैं .......!

28 टिप्‍पणियां:

संगीता पुरी ने कहा…

संख्‍या का संसार तो अद्भुत है ही ..

उससे कम अद्भुत आपके इस लेख में संकलित तथ्‍य नहीं ..

एक नजर समग्र गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष पर भी डालें

lokendra singh rajput ने कहा…

वाह केवल राम जी... आपके माध्यम से ललित शर्मा जी को बधाई... वैसे संख्या के महत्व पर हाल ही में मैंने भी एक पोस्ट लिखी थी, उसका विस्तार आपकी पोस्ट के जितना नहीं था... मेरे ब्लॉग पर १०० पोस्ट पूरी हुईं थीं....

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सब संख्या का ही खेल है....रोचक लेख

संजय भास्कर ने कहा…

कई तरह की महत्वपूर्ण संख्याएं हमारे जीवन को प्रभावित कर रहीं हैं ....... केवल राम जी

Maheshwari kaneri ने कहा…

सच है संख्‍या का संसार अद्भुत है ..बहुत ही रोचक लेख ..आभार केवल जी..

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

संख्याओं के अदभुत नजारे दिखाये आपने, ललित शर्माजी भी अदभुत प्रतिभा के धनी है, शुभकामनाएं.

रामराम.

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

केवल भाई, वैसे तो मैने रात में लगभग 12 बजे के करीब इस लेख को देख लिया था, सरसरी तौर पर पढ़ा भी, पर नींद मे पूरा आनंद नहीं ले पाया।
बहुत ही रोचक अंदाज और तथ्यों के साथ बढिया लेख
बहुत बहुत शुभकामनाएं

संध्या शर्मा ने कहा…

सही कह रहे हैं केवल जी सारा खेल इन संख्याओं का ही तो है, देखिये ना शून्य ने मानव को चाँद पर पहुंचा दिया और आपके 1 कमेन्ट ने ललितजी के ब्लॉग पर टिप्पणियों की संख्या को 12345 के जादुई आंकड़े पर... आप दोनों को बधाई और शुभकामनायें

Vivek Rastogi ने कहा…

ऐसी संख्याएँ मानव मष्तिष्क को रोचकता का आभास देती हैं, बढ़िया तथ्यों के साथ पोस्ट ।

shikha varshney ने कहा…

हाँ जी संख्याओं का संसार भी अद्भुत है और आपका चिंतन भी..
बहुत शुभकामनाएं .

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

लोग संख्याओं का खेल खेलते हैं, संख्यायें भी अपना खेल खेलती हैं..

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

संख्या जा जीवन में अत्यंत महत्व है। संख्याओं पर आपने सार्थक लेख प्रस्तुत किया। आभार…… हरेली अमावश की हार्दिक शुभकामनाएं

शSSSSSSSSSS
कोई है

Amrita Tanmay ने कहा…

आपका लिखा हुआ आलेख अभी तक याद है जब आपने सौ टिप्पणी पाकर अपना उदगार व्यक्त किया था..संख्या का रोचक बाना..

Reena Maurya ने कहा…

संख्याओ की महिमा जितनी कहे कम ही है..
हम स्टुडेंट तो एक- एक नंबर के लिए
ताकते रहते है...बहुत बढ़िया, रोचक पोस्ट:-)

Dr.Sushila Gupta ने कहा…

adarneeya Ramji

sakhya ki mahtta to vidit ho gaee ,but aapke lekhan se prerit
pathak, fans kitne hai?
shayad anuman lagana mushkil hai.
thanks ji.

अमित श्रीवास्तव ने कहा…

सारी दुनिया दीवानी "फिगर" की ही |

रचना दीक्षित ने कहा…

संख्याओं का जाल सचमुच अद्भुत है. आपने बहुत अच्छी तरह से समझाया है.

बधाई.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सम्ह्या का रोचक संसार ... सब नंबर का खेल है ... राजनीति भी तो ...

Ramakant Singh ने कहा…

संख्याओं का संसार भी अद्भुत है और आपका चिंतन

निर्मला कपिला ने कहा…

ांक विद्द्या इसी लिये तो लिखी गयी है। सच मे रोचक संसार है अंक विद्या। शुभकामनायें।

kase kahun?by kavita verma ने कहा…

sankhyayen kahne ko to das ank hain lekin inme adbhut tathy chhupe hai...jinhe janan hamesha rochak hota hai.

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

SUNDAR VARNAN ....

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

वाह केवल राम भाई बहुत ही रोचक लेख.

मनोज कुमार ने कहा…

रोचक!

Kewal Joshi ने कहा…

वैज्ञानिकों को "GOD पार्टिकल" , 'संख्या पार्टिकल' में खोजना चाहिए.

Amar Deep ने कहा…

dhanirankar bahiya ji number system is always interesting it may be to solve math prob or to solve astronomical things we cant live without numbers i like this ....

शिखा कौशिक ने कहा…

sarthak post .thanks
TIME HAS COME ..GIVE YOUR BEST WISHES TO OUR HOCKEY TEAM -BEST OF LUCK ..JAY HO !
रफ़्तार जिंदगी में सदा चलके पायेंगें

Anju (Anu) Chaudhary ने कहा…

अद्धुत हैं ...ये शब्दों का खेल ...


काश ...12345.......हमारे पास ये संख्या होती :)))))