16 जुलाई 2014

तुम

'मैं' और 'आप'
जब ‘हम’ हो गए
सत्ता समाप्त हो गयी ‘दो’ की
एकाकार हो गए, शब्द और भाव
शब्द संकुचित-अर्थ विस्तृत
अहसासों के गर्भ में
शब्दों के अर्थ खो गए
पता नहीं हम 'दो' थे
कैसे दो से 'एक' हो गए

ना जाने कैसे
हमारे अहसास एक हो गए
दूरियां मिट गयी जो दरमियाँ थीं
जीवन के रंग बदल गए
चारों और छा गयी खुशियाँ
महसूस होने लगा
इस जहान में
तुम सा कोई भी नहीं.
सच में तुम सा कोई नहीं

तुम, बस तुम ही तुम.....!!!  

21 टिप्‍पणियां:

संजय भास्‍कर ने कहा…

मैं' और 'आप'
जब ‘हम’ हो गए
सत्ता समाप्त हो गयी ‘दो’ की

वाह ... बहुत खूब कहा है आपने ...ऎसी रचनाएँ रोमांचित कर जाती हैं... एक अलग प्रकार का रोमांच होता है

राजीव कुमार झा ने कहा…

बहुत सुंदर.

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

एक और एक से एक वाह हिसाब ही गड़बड़ा दिया क्या बात है ।

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

सुन्दर भाव

संध्या शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर... ख़ुशी की बात है.जीवन हमेशा खुशियों से भरा रहे … हार्दिक शुभकामनाएं

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत खूब .....

Yashwant Yash ने कहा…

कल 18/जुलाई /2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
धन्यवाद !

HARSHVARDHAN ने कहा…

सुन्दर रचना। सादर धन्यवाद।।

नई कड़ियाँ :- हिन्दी चिट्ठाकारों (ब्लॉगरों) के लिए आ रहा है गूगल एडसेंस Google Adsense !!

Manjusha pandey ने कहा…

बहुत सुन्दर..रचना..

Smita Singh ने कहा…

बहुत सुन्दर लिखा है आपने

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

ख़ूबसूरत भाव... मैं और तुम मिलकर नहीं.. एक दूसरे में समाकर.. हम नहीं क्योंकि हम भी बहुवचन है और एक से अधिक की ओर इशारा करता है.. ये तो बस मिलकर "तू ही रे" वाली बात है!
बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति!!

Lekhika 'Pari M Shlok' ने कहा…

Ati sunder bhaawnaao se saji rachna..

sushma 'आहुति' ने कहा…

खुबसूरत रचना.....

Amrita Tanmay ने कहा…

अहा!..

Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…

उम्दा और बेहतरीन... आप को स्वतंत्रता दिवस की बहुत-बहुत बधाई...
नयी पोस्ट@जब भी सोचूँ अच्छा सोचूँ

Sanju ने कहा…

Sach, Umda Aur Behterin Post.
Welcome to my Blog.

Dr.Arti Sharma ने कहा…

प्रिय दोस्त मझे यह Article बहुत अच्छा लगा। आज बहुत से लोग कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त है और वे ज्ञान के अभाव में अपने बहुत सारे धन को बरबाद कर देते हैं। उन लोगों को यदि स्वास्थ्य की जानकारियां ठीक प्रकार से मिल जाए तो वे लोग बरवाद होने से बच जायेंगे तथा स्वास्थ भी रहेंगे। मैं ऐसे लोगों को स्वास्थ्य की जानकारियां फ्री में www.Jkhealthworld.com के माध्यम से प्रदान करती हूं। मैं एक Social Worker हूं और जनकल्याण की भावना से यह कार्य कर रही हूं। आप मेरे इस कार्य में मदद करें ताकि अधिक से अधिक लोगों तक ये जानकारियां आसानी से पहुच सकें और वे अपने इलाज स्वयं कर सकें। यदि आपको मेरा यह सुझाव पसंद आया तो इस लिंक को अपने Blog या Website पर जगह दें। धन्यवाद!
Health Care in Hindi

Ankur Jain ने कहा…

दर्द दिलों के कम हो जाते।
मैं और तुम गर हम हो जाते।

बहुत ही सुंदर प्रस्तुति।

Vadhiya Natha ने कहा…

Thank you sir. Its really nice and I am enjoing to read your blog. I am a regular visitor of your blog.
Online GK Test

Dr.Arti Sharma ने कहा…

हैल्थ से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां पर Click करें...इसे अपने दोस्तों के पास भी Share करें...
Herbal remedies

Goyal Harry ने कहा…

republic day photos
republic day speech
republic day quotes
republic day wallpapers
republic day image